Chala jaata hoon, kisi ki dhun mein ( चला जाता हूँ किसी की धुन में ) Lyrics

Chala jaata hoon kisi ki dhun mein Lyrics

Film- Mere Jeevan Saathi
Singer- Kishore Kumar
Music Director- R D Burman
Lyricist- Majrooh Sultanpuri

chala jaata hoon kisi ki dhun mein
dhadakate dil ke taraane liye
milan ki masti, bhari aankhon mein
hazaaron sapane, suhaane liye

ye masti ke, nazaaren hain, to aise mein
sambhalana kaisa meri qasam
too laharaati, dagariya ho, to phir kyoon na
chaloon main bahaka-bahaka re
mere jivan mein, ye shaam aai hai
muhabbat vaale, zamaane liye
chala jaata hoon…

vo aalam bhi, ajab hoga, vo jab mere
karib aaegi meri qasam
kabhi baiyaan chhuda legi, kabhi hans ke
gale se lag jaegi haay
meri baahon mein, machal jaegi
vo sachche-jhoothe bahaane liye
chala jaata hoon…

bahaaron mein, nazaaron mein, nazar daaloon
to aisa lage meri qasam
vo nainon mein, bhare kaajal,
ghoonghat khole, khadi hain mere aage re
sharam se bojhal, jhuki palkon mein
javaan raaton ke fasaane liye
chala jaata hoon…

Chala jaata hoon kisi ki dhun mein Lyrics ( In Hindi )

फिल्म – मेरे जीवन साथी
गायक- किशोर कुमार
संगीतकार- राहुलदेव बर्मन
गीतकार- मजरूह सुल्तानपुरी

चला जाता हूँ किसी की धुन में
धड़कते दिल के तराने लिये
मिलन की मस्ती, भरी आँखों में
हज़ारों सपने, सुहाने लिये

ये मस्ती के, नज़ारें हैं, तो ऐसे में
सम्भलना कैसा मेरी क़सम
तू लहराती, डगरिया हो, तो फिर क्यूँ ना
चलूँ मैं बहका-बहका रे
मेरे जीवन में, ये शाम आई है
मुहब्बत वाले, ज़माने लिये
चला जाता हूँ…

वो आलम भी, अजब होगा, वो जब मेरे
करीब आएगी मेरी क़सम
कभी बइयाँ छुड़ा लेगी, कभी हँस के
गले से लग जाएगी हाय
मेरी बाहों में, मचल जाएगी
वो सच्चे-झूठे बहाने लिये
चला जाता हूँ…

बहारों में, नज़ारों में, नज़र डालूँ
तो ऐसा लागे मेरी क़सम
वो नैनों में, भरे काजल,
घूँघट खोले, खडी हैं मेरे आगे रे
शरम से बोझल, झुकी पलकों में
जवाँ रातों के फ़साने लिये
चला जाता हूँ…